Difference between hardware and software – Best Hindi Guide 2020

क्या आप लोग hardware और software में अंतर अंतर जानना चाहते हो और google पर (what is Difference between hardware and software) search करते रहते हो. तो आज में ये post आप के लिए ही लिख रहा हूँ.नमस्कार दोस्तों मेरा नाम विभोर और आपका apex gyan नामक blog में बहुत-बहुत स्वागत है, तो चलिए देखते है की hardware और software में क्या अंतर है (Difference between hardware and software).

Hardware और software ये दोनों ही कंप्यूटर के बहुत जरूरी भाग (part of the computer) हैं, और इन में से अगर एक चीज़ भी computer में मोजूद न हो, तो computer काम नहीं कर सकता, इसलिए computer में इन दोनों का होना बहुत जरूरी है.

Difference between hardware and software यह है, कि जो hardware होता है वो एक physical device होता है जो की किसी भी computer के साथ या उसके अंदर use होता है. और उसी जगह software एक code (programming languages) का collection होता है जो की computer की hard disk (storage) में installed होता है . दुसरे शब्दों में कहें तो hardware computer का वो भाग है जिसे आप छूकर महसूस (feel) कर सकते है, लेकिन software को आप छू नहीं सकते. Hardware एक physical device होता है और software virtual.

Difference between hardware and software

Hardware
1These are Devices that are required to store and execute (or run) the software.
2इसे manufacture किया जाता है.
3Hardware बिना software के कोई भी task पूरा नही कर सकता.
4Hardware के physical electronic device होने की वजह से आप उसे छु भी सकते है, और महसूस भी कर सकते हैं.
5इसकी चार main categories होती है: input devices, output devices, storage devices, internal components.
6यह computer virus से ख़राब नही हो सकता.
7यह electrically network के द्वारा एक स्थान से दुसरे स्थान पर transfer नहीं हो सकता.
8Hardware बहुत लंबे समय तक चल सकते हैं.
9अगर hardware ख़राब हो जाता है तो आप इसे नये part के साथ बदल सकते है
10उद्धरण:- keyboard, mouse, CPU, UPS, monitor, RAM, ROM, video card, आदि.
Software
Software is a set of instruction that is given to the computer to perform tasks.
इसे develop किया जाता है programming codes के द्वारा.
Software बिना hardware के execute नही हो सकते.
हम software को देख और इस्तमाल तो कर सकते है, लेकिन उससे छु नहीं सकते.
ये खासकर 3 categories में बाटे हुए है: System software, Programming software and Application software.
ये virus से ख़राब हो जाते हैं.
यह electrically network के द्वारा एक स्थान से दुसरे स्थान पर transfer किये जा सकते हैं.
Software बहुत लंबे समय तक नहीं चल सकते हैं, क्यूंकि इसमें bugs आ जाते है और इन्हें खराब कर देते हैं.
अगर software ख़राब हो जाएं तो आप इन्हें backup copy से reinstall कर सकते हैं.
उद्धरण:- Ms. Word, Excel, PowerPoint, Photoshop, operating system, आदि

What is Hardware? – Hardware क्या है?

Difference between hardware and software
Photo by Unsplash on Unsplash.com

Difference between hardware and software समजने के बाद अब हम बात करेंगे की hardware क्या है. और इसके प्रकार कोन-कोन से हैं.

Hardware computer का एक physical parts होते है, जो की software के bases पर काम करता है. Hardware transistor जेसे electronic devices से बना होता है. Hardware tangible होता है, और आप इससे छू सकते है.

Hardware (physical components) वह है जो एक computer system को काम करता है, बिना hardware के computer कोई भी task और काम पूरा नहीं कर सकता, और अगर hardware नाह होगा तो software के पास चलाने के लिए कुछ भी नही होगा.

इसी लिए computer से कोई भी काम करने के लिए hardware और software दोनों का होना ही बहुत जरूरी है, software जो झी वो hardware को बताता है की काम करना है.

Hardware को हम Mouse, Keyboard, output devices (Monitor), secondary storage devices (RAM/ROM), and internal components (ALU, Registers) में classify कर सकते हैं. Computer system में hardware Mouse, Keyboard, Processor, RAM, Hard drives,Monitor, Printer, Scanner, और जो कुछ भी आप छू सके वो सब computer के hardware devices होते हैं.

Types of hardware – Hardware के प्रकार

Input devices

सबसे पहले हम input device की बात करेंगे, तो input device computer को data भेजने वाले components होते हैं. इसके कुछ उद्धरण इस प्रकार हैं. Keyboard एक ऐसा device है जिसके द्वारा user अपना data computer में input कर सकते है. इसका layout कुछ additional keys के साथ typewriter की तरह होता हैं. Computer hardware का एक और input device mouse होता है, इसके अंदर left और right side दो button और बीच में एक पैंयाँ होता है, इसके द्वारा आप computer screen पर आने वाले cursor को control कर सकते है और computer को अच्छी और आसान तरह से चला सकते हैं.

Joysticks, Light Pen, Scanner, Microphone, and Barcode Reader ये सब भी input devices के ही उद्धरण हैं.

Output Devices

अब हम output devices की बात करेंगे, Output devices computer के वो device होते हैं, जो की computer से data receive करके user को दिखाते हैं. इसके कुछ examples is तरह हैं, Monitor एक Visual Display Unit (VDU) होता है जो की computer के data को visualize करके दीखता है. इसके और भी बहुत सारे examples है जैसे की printer, etc.

Secondary Storage Devices

Secondary Storage Devices वो hardware device होते है जी की अपने अंदर computer का data store करके रखते हैं जब तक की उस data को delete या overridden ना किया जाये. ये devices data को permanently store करते हैं. और यह nonvolatile memory होती है. इसके कुछ examples is तरह अहिं, hard disk, etc.

Internal Components

Internal Components computer के सबसे जादा important hardware components होते हैं, यह components computer की main functionalities से direct connected होते हैं. CPU, RAM, ROM, and motherboard ये सब इसके examples हैं.

What is software – Software क्या है?

Difference between hardware and software
Photo by Unsplash on Unsplash.com

Computer software, (collection of instructions) instruction programs, procedures, documentation, का रक collection होता है.जो की computer को काम करने के लिए instructions देता है.

Software computer का एक बहुत ही important part होता है. क्यूंकि ये ही hardware को काम करने के लिए बताता है, की काम कब और कैसे करना है. इसे hardware के मुकाबले बदलना बहुत आसान है, इसलिए इसे “soft” कहा जाता है.

Software को programming language में instructions लिख कर develop किया जाता है.

Types of Software – software के प्रकार

System Software

System Software computer की processing capabilities को extend, control, और operate करने की अनुमति देता है. यह software किसी भी hardware या application software को रन करने के लिए बहुत जादा जरूरी है. ये किसी भी hardware और end user के बीच interface का काम करते हैं. आमतौर पर computer manufacturers ही system software को develop करते हैं. System Software को develop करने की लिए mainly c और c++ और assembly programming language का इस्तमाल किया जाता है.

Application Software

Application Software को किसी भी specific user की requirements को archive करने के लिए designed किया गया है. इसके कुछ उद्धरण is प्रकार हैं, MS Word ये software किसी भी document को बनाने में मदद करता है. Spreadsheet किसी भी financial details को manage करने में काम आता है. और इनके साथ साथ इसके और भी बहुत सारे उद्धरण है.

आज मैंने आपको कोन-कोन से keywords के बारे में बताया है.

  • hardware and software systems
  • examples of computer software
  • software and hardware
  • list 5 examples of hardware
  • software and hardware
  • hardware and software definition
  • types of computer software
  • computer skills hardware and software

Conclusion – आज अपने क्या सीखा

इस पोस्ट में मैंने आपको आज Difference between hardware and software के बारे में बताया है, मै आशा करता हूँ की आपको हमारा ये post पसंद आया हो please इस पोस्ट के बारे में अपना सुझाव दें. अगर आपको अभी भी इस topic (Difference between hardware and software) के regarding कोई doubts है तो आप अपने doubts comment box में clear कर सकते है मई आपके हर question का answer देने की पूरी कोशिश करूंगा.

जय हिन्द जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *